हर चन्द चमकता रहे कुल हिंद मे "आलोक"

आपकी राय

Date 29/04/2011
By Dr. Ganesh Datt Saraswat
Subject बहुत-बहुत बधाई!

आलोक सीतापुरी जन्म जात सुकवि है;

वे जितने अच्छे छन्द कार हँ उतने ही समर्थ गीतकार भी हैं|

लोक शैली को भी उन्होने आत्मसात किया है,

इसीलिए उनके लोक गीतो मे सहज आकर्षण है|

गज ल कार के रूप मे भी वे प्रशंस नीय और चर्चित हैं|

उनकी रचनाए कथ्य और शिल्प दोनो ही विधियो से प्रसशनीय हैं|

Dr. Ganesh Datt Saraswat
HOD Hindi Department
R.M.P. PG College
Sitapur (UP) 261001

Date 12/01/2011
By डाक्टर गुणशेखर
Subject बहुत-बहुत बधाई!

प्रिय सुरेंद्र पाराशर ,
स्नेहाशीष!
बाहर होने के कारण प्रतिक्रया नहीं दे सका । विलंब के लिए क्षमा चाहता हूँ।
बहुत-बहुत बधाई! बहुत सुंदर साइट बनाई है। इसमें तुम्हारी सर्जनात्मक अभिरुचि और पिता के प्रति प्यार-सम्मान सब कुछ है। कुछ बाहर से ही छलक और झलक रहा है तो कुछ बहुत गहरे सम्माया हुआ प्रतीत होता है।
इसे बचाए और बनाए रखना बेटे!
एक बार पुन बहुत-बहुत बधाई!
तुम्हारा अपना
डाक्टर गुणशेखर

Date 12/01/2011
By Vishnu Kant Mishra
Subject Congratulation .......

My Dearest Alok Ji ....

I feel very much delighted to see your web page . Really your son is deserving for every appreciation from all side. I hope that it would be very much fruitful for net reader. I wish all the success. hoping that u will remain in service of nation our beloved INDIA.
Vishnu Kant Mishra.
Lucknow

 

© 2010 All rights reserved.

Make a free websiteWebnode