हर चन्द चमकता रहे कुल हिंद मे "आलोक"

Poems

25/05/2013 02:26

रक्त बीज बो गई दामिनी महिलाओ की रक्षा का

कभी यौन दुष्कर्म न हो पहना दो कवच सुरक्षा का। रक्त बीज बो गई दामिनी महिलाओ की रक्षा का। सीता को आदर्श मानती भारत की हर नारी है। फिर क्योँ पश्चिम के लिबास मेँ फिरती बदन उघारी है। महिलायेँ इस ओर ध्यान देँ आया समय परीक्षा का रक्त बीज बो गई दामिनी महिलाओँ की रक्षा का।। टी.बी., टैबलेट, लैपटाप, मोबाइल...

© 2010 All rights reserved.

Make a free websiteWebnode